भारत-अमेरिका मिलकर बनाएंगे किफायती UAV, सीमा पर टोह लेने में मददगार होंगे

टेक्नोलॉजी दुनिया

भारत-अमेरिका मिलकर बनाएंगे किफायती UAV, सीमा पर टोह लेने में मददगार होंगे

वाशिंगटन: भारत-अमेरिका संयुक्त तौर पर एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस और रक्षा सहयोग के अलावा किफायती अनमैन्ड एरियल व्हीकल (UAV) बनाने वाले प्रोजेक्ट पर मिलकर काम करेंगे। पेंटागन के मुताबिक हाल ही में दोनों देशों के बीच रक्षा तकनीक और व्यापारिक पहल को लेकर चर्चा हुई। इसका उद्देश्य छोटे हथियारों की नई तकनीक पर काम करना है। अमेरिका के रक्षा विभाग की अपर सचिव एलन लॉर्ड ने शुक्रवार को कहा, ‘हम यूएवी बनाने के प्रोजेक्ट पर काम करेंगे।’

इसे भी पढ़ें:

भारत के रक्षा सचिव अजय कुमार ने बताया, ‘हमारी टीम विशेष उत्पादों को तय तारीख में बनाने को लेकर काम कर रही है। इसकी जिम्मेदारी मुख्य व्यक्तियों के पास है।’ लॉर्ड ने कहा, ‘हमारी कोशिश युद्ध लड़ने वालों को किफायती दामों में हथियारों में अतिरिक्त सुविधाएं मुहैया कराने की है। इस मिशन में हमारा फोकस तीन बातों पर है। इस मिशन  उद्देश्य मानवता को सहयोग, आपदा में राहत, क्रॉस बॉर्डर ऑपरेशन और गुफाओं, सुरंगों के निरीक्षण में मदद करना है।’

इसे भी पढ़ें: काठमांडू एयरपोर्ट पर क्रैश हुआ बांग्लादेशी विमान, बंद किया गया एयरपोर्ट

UAV को लेकर अमेरिकन एयर फोर्स रिसर्च लेबोरेटरी और भारतीय रक्षा रिसर्च और डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (डीआरडीओ) के बीच बातचीत चल रही है। अप्रैल में दोनों देशों के द्वारा तकनीकी योजना दस्तावेज तैयार किया लॉर्ड ने कहा, ‘हम इस योजना पर सितंबर में साइन करेंगे। यह सहयोग हमारी सरकारें और हमारी इंडस्ट्रीज को लेकर है। इसका लाभ भारतीय और अमेरिकन दोनों ही तरफ के लोगों को मिलेगा।’

ETCKhabar.com : हिंदी खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *