National News

यूपी में जंगलराज : दिनदहाड़े वकील की गोली मारकर हत्या, नाराज वकीलों ने बस में लगाई आग

यूपी में जंगलराज : दिनदहाड़े वकील की गोली मारकर हत्या, नाराज वकीलों ने बस में लगाई आग

इलाहाबाद में गुरूवार को सुबह कचहरी जा रहे एक वकील की गोली मारकर हत्या कर दी गई। घटना के बाद भड़की भीड़ ने शहर में आगजनी करनी शुरू कर दी है। एक सिटी बस को आग के हवाले कर दिया गया है जबकि कई रोड पर चक्का जाम कर दिया। मौके पर पुलिस और प्रशासन के बड़े अधिकारी पहुच गए। वहीँ इलाहाबाद और लखनऊ के वकील हड़ताल पर चले गए। आपको बता दे कि, मंगलवार को भी एक बीजेपी पार्षद की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। सुबह इलाहाबाद जिला न्यायलय में प्रैक्टिस करने वाले एडवोकेट राजेश श्रीवास्तव कचहरी जा रहे थे। कर्नलगंज इलाके में मनमोहन पार्क के पास गोली मारकर उनकी हत्या कर दी गयी। जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गयी।

हत्या से नाराज वकीलों ने पहले सड़क पर शव रखकर जाम लगाया और कचहरी में खराब कानून-व्यवस्था को लेकर जमकर नारेबाजी कर बवाल काटा. साथी वकील की हत्या से नाराज वकीलों ने एक बोलेरो गाड़ी को भी आग के हवाले कर दिया. बदमाशों ने वकील को उस वक्त गोली मारी जब वो रोज की तरह जनपद न्यायालय जा रहे थे. गोली लगने से घायल वकील को जब तक उनके साथी हॉस्पिटल ले जाते उनकी मौत हो चुकी थी. घटना कर्नलगंज थाना क्षेत्र के मनमोहन पार्क के पास हुई. हालांकि, अधिवक्ता को किसने और क्यों गोली मारी इसका पता नहीं चल सका है. फिलहाल पुलिस इस बात का पता लगाने में जुट गई है.

इसे भी पढ़े: 

गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट: कचहरी से बगल मनमोहन पार्क के पास राजेश श्रीवास्तव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उसके बाद पूरे शहर में वकीलों ने जमकर बवाल काटा। इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने कार्य का बहिष्कार कर दिया था और प्रदर्शन करते हुए कार्रवाई की मांग की। बता दें कि घटना के बाद पूरे उत्तर प्रदेश में जगह-जगह अधिवक्ता संगठन सड़क पर उतर आए और उनके प्रदर्शन के बाद से प्रदेश में बिगड़ रहे माहौल को देखते सरकार की ओर से भी इस मामले में लगातार नजर बनाए रखी है और हर पल की रिपोर्ट गृह मंत्रालय ले रहा है।

रेस्टोरेंट संचालक से हुआ था वकील का विवाद: वकील की हत्या किसने और क्यों की,फिलहाल यह साफ नहीं हो सका है। वकील का अपने इलाके के एक रेस्टोरेंट संचालक से कुछ दिन पहले विवाद हुआ था। आशंका है कि रेस्टोरेंट के इसी विवाद में वकील की हत्या की गई है। पुलिस ने रेस्टोरेंट संचालक समेत कुछ लोगों को शक के आधार पर हिरासत में ले लिया है। बता दें कि यह घटना एसे समय पर हुई जब प्रदेश के मुख्य सचिव और डीजीपी अपराध और कानून व्यवस्था की समीक्षा को लेकर बैठक कर रहे थे। इस घटना ने इलाहाबाद समेत समूचे यूपी की क़ानून व्यवस्था पर एक बार फिर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं।

इस घटना पर पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी अपना ग़ुस्सा ज़ाहिर किया है। उन्होंने योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि प्रदेश में हत्या की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। एक के बाद हत्या की घटनाएं हो रही हैं, लेकिन किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि बुधवार को सहारनपुर में एक युवक की हत्या हो जाती है। हत्या की वजह से तनाव इतना बढ़ जाता है कि इंटरनेट सेवाएं बंद करनी पड़ती हैं।

अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.
Facebook Comments
1 Comment

1 Comment

  1. Pingback: जिन्ना महापुरुष थे और रहेंगे, आज़ादी की लड़ाई में था योगदान, जहां जरूरत पड़े लगाई जाए तस्वीर : BJP सांस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top